– राजस्थान में फिर दागदार हुआ खाकी का दामन

कोटा, डीडीसी। राजस्थान के कोटा संभाग (Kota Division) में एक बार फिर खाकी का दामन दागदार हो गया। एक महिला ने झालावाड़ महिला पुलिस थाने के थानाप्रभारी विजय सिंह चौधरी (SHO Vijay Singh Chowdhary) के खिलाफ कोटा के विज्ञाननगर थाने में रेप का मामला (Rape Case) दर्ज कराया है। थानाप्रभारी के खिलाफ मामला दर्ज होते ही झालावाड़ पुलिस अधीक्षक मोनिका सेन ने विजय सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है। पीड़िता महिला के मुताबिक जब यह घटना हुई उस समय विजय सिंह विज्ञाननगर थाने में तैनात था। पीड़िता ने इस संबंध में कोटा सिटी पुलिस अधीक्षक को परिवाद सौंपा था। उसके बाद पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर थानेदार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

दो साल बाद रिटायर हो जाएगा दरोगा
आरोपी सब इंस्पेक्टर दो साल बाद रिटायर होने वाला है। 43 वर्षीय महिला पीड़िता ने अपनी शिकायत में बताया कि डेढ़ साल पहले कोरोना काल में उनके पति की मौत हो गई। दूसरी तरफ विजय सिंह ने शादी करने का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाना जारी रखा। यहां तक कि विजय सिंह ने वकील के जरिये 500 रुपये के स्टांप लिखकर दिया कि वह उसे पत्नी का दर्जा देगा और जिंदगीभर साथ निभायेगा।

ब्याज पर पैसे देने का काम करती है महिला
विज्ञाननगर थाना सीआई महेश सिंह ने बताया की करीब 43 वर्षीय पीड़िता ने पुलिस अधीक्षक कोटा शहर को परिवाद दिया था। इस पर एसआई विजय सिंह चौधरी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। रिपोर्ट में पीड़िता ने बताया कि वो पहले ब्याज पर पैसा देती थी। साल 2014 में किसी महिला द्वारा 7 लाख रुपये नहीं चुकाने पर उसने इसकी शिकायत विज्ञाननगर थाने में दी थी। उस समय उसकी वहां थाने में तैनात पुलिस उपनिरीक्षक विजय सिंह चौधरी से मुलाकात हुई थी। विजयसिंह ने महिला से पैसा दिलवाने में मदद की थी। इसके लिये 26 हजार रुपये महीने के हिसाब से 17 महीने के किस्त बंधवाई थी।

वैष्णों देवी और महाकाल के दर्शन साथ किए
रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता हर महीने किस्त के पैसे लेने थाने में विजय सिंह के पास जाती थी। इस कारण मेल मुलाकात बढ़ गई। विजय सिंह परिवार के साथ उसके घर आने जाने लगा। दोनों परिवार साथ में वैष्णोदेवी और महाकाल के घूमने गए थे। इस दौरान विजय सिंह ने उससे शारीरिक संबंध बना लिये। उसने मरते दम तक साथ नहीं छोड़ने का वादा किया।

दरोगा की बीवी, बेटे ने पीटा
पीड़िता का आरोप है कि डेढ़ साल पहले कोरोना काल में उनके पति की मौत हो गई। दूसरी तरफ विजय सिंह ने शादी करने का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाना जारी रखा। एक महीने पहले विजयसिंह की पत्नी और बेटे ने घर आकर उसके साथ मारपीट की। इसकी शिकायत उसने बोरखेड़ा थाने में की थी, लेकिन बाद में उसमें राजीनामा हो गया।

स्टांप लिखकर जुबान से पलटा दरोगा
उसके बाद विजय सिंह ने वकील के जरिये 500 रुपये के स्टांप पर दोनों का फोटो लगाकर लिखकर दिया कि वह उसे पत्नी का दर्जा देगा और जिंदगीभर साथ निभायेगा। पीड़िता का आरोप है कि अब एक महीने में उसने फिर रंग बदल लिया। एसआई विजय सिंह ने सभी आरोपों को निराधार बताया है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here