– हल्द्वानी में दूध लेने के बहाने रोज दुकान जा कर छेड़ता था सब इंस्पेक्टर

हल्द्वानी, डीडीसी। खाकी वर्दी में अगर नीयत काली हो तो अंजाम ठीक वैसा होता है, जैसा आज हल्द्वानी में हुआ। एक 55 साल के सब इंस्पेक्टर की नीयत 12 साल की बच्ची पर डोल गई। दुकान पर बैठी बच्ची को ये दरोगा तरह-तरह से छेड़ने लगा। ये सिलसिला पिछले 10 दिन से चल रहा था और रविवार को जब मामला खुला तो इलाकाई लोगों ने काली नीयत के पुलिस वाले को फुटबॉल बना कर पीटा और पुलिस के सुपुर्द कर दिया। घटना उत्तराखंड में नैनीताल के हल्द्वानी में मुखानी थानाक्षेत्र की है।

जांघ पर बैठने को कहता था आरोपी
आरोपी सब इंस्पेक्टर का नाम मदन सिंह है और हलदानी में गन्ना सेंटर पुलिस चौकी में तैनात है। आरोपी पीड़िता के घर के पास रहता है। पीड़िता का परिवार यहां किराए की दुकान में परचून का काम करता है। आरोपी रोज सुबह दूध लेने के बहाने दुकान में पहुंचता और बच्ची से छेड़छाड़ करता। आरोपी बच्ची को जांघ पर बैठने को कहता था।

मां ने पूंछा तब बताई बच्ची ने सारी कहानी
हुआ यूं कि सुबह दुकान खोलने के बाद मां घर के काम मे व्यस्त हो जाती थी। उस दौरान कुछ वक्त के लिए बच्ची दुकान पर बैठती थी। जितनी बच्ची दुकान पर बैठती, मां हिसाब के साथ ये भी पूंछती थी कि दुकान पर कौन आया-गया। कुछ दिन तो बच्ची डर की वजह से कुछ नहीं कह पाई, लेकिन शनिवार को उसने सब कुछ मां को बता दिया। जिसके बाद आरोपी पुलिसवाले कि घेराबन्दी शुरू हुई।

पुलिसवाले के आने से पहले ही सेट किए कैमरे
बच्ची के विरोध न करने पर आरोपी के हौसले बुलंद थे और इतने कि वह सीधा दुकान में घुस कर बैठने लगा। शनिवार को आरोपी के आने से पहले ही कैमरे सेट कर दिए गए। आरोपी शनिवार सुबह रोज तरह साढ़े 6 बजे पहुंचा। दुकान में दाखिल होने से पहले आस पास मुआयना किया कि कहीं से कोई आ तो नही रहा। इसके बाद उसने फिर से हरकत शुरू कर दी और सारा वाकया कैमरे में रिकॉर्ड हो गया।

दुकान से थाने तक हुई धुनाई
कैमरे में हरकत रिकॉर्ड होने के बाद आरोपी को पहले से घाट लगाए लोगों ने घर दबोचा। मौके पर ही आरोपी की पिटाई शुरू हो गई। इस करतूत के बारे में जिसने सुना उसने आरोपी की धुनाई की। पीटते-पीटते उसे मुखानी थाने ले जाया गया। आरोपी लहूलुहान हो चुका था, जिसके बाद उसे इलाज के लिए बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया।

अपराधियों से ज्यादा धाराएं लगाई जाएंगी
पूरे मामले में एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी ने कड़ा रुख अख्तियार किया है। उन्होंने कहा है कि वर्दी की आड़ में ऐसी हरकत बरदाश्त नही की जा सकती। इस मामले में न सिर्फ आरोपी को सस्पेंड किया जाएगा, बल्कि उसके खिलाफ सख्त से सख्त करवाई की जाएगा। किसी आम अपराधी की अपेक्षा आरोपी हेड कॉन्स्टेबल पर अधिक गंभीर धाराएं लगाई जाएंगी।

बच्ची ने क्या कहा
इस मामले में बच्ची ने बताया कि पुलिस वाले अंकल रोज दुकान में दूध लेने आते थे। पिछले दस दिनों से अंकल आकर दुकान के अंदर बैठ जाते थे। अंकल जांघ पर बैठने को कहते। कभी गाल तो कभी होठों पर किस करने को कहते और कहते थे कि तू कितनी सुंदर है। ठीक यही सब कुछ बच्ची ने अपनी मां को बताया। जिसके बाद परिजनों का खून खौल गया।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here