– पुलिसवाली की हुई दर्दनाक मौत, कत्ल के बाद खुद को भी मारी गोली

मुरादाबाद, डीडीसी। दोनों पुलिस विभाग में तैनात थे। मेघा की तैनाती उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अमरोहा (Amroha) के गजरौला थाने में थी, जबकि मनोज कुमार जिले के ही सैदनगली थाने में तैनात है। मनोज, मेघा को दिल ही दिल में चाहता था और मेघा को ये बात अच्छी तरह पता थी, लेकिन मेघा, मनोज से प्यार नही करती थी। लाख कोशिशों के बावजूद जब मेघा नही मानी तो मनोज ने कत्ल का षडयंत्र रचा। उसने मेघा को गोली मार दी। मेघा की दर्दनाक मौत हो गई। जिसके बाद मनोज ने खुद को भी गोली मार ली। मेघा की तो मौत हो चुकी है, लेकिन अमरोहा के जिला अस्पताल में अभी मनोज जिंदगी और मौत से जद्दोजहद कर रहा है।

मेघा के सीने में मारी गोली, फिर अपनी छाती में उतार ली गोली
उत्तर प्रदेश के गजरौला जिले के सैदनगली थाने की पीआरवी टीम में तैनात सिपाही मनोज कुमार ने महिला सिपाही मेघा चौधरी के सीने में गोली मारी। जिसके बाद खुद के सीने पर भी गोली चला दी। दोनों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां कुछ समय बाद महिला सिपाही की मौत हो गई। पुलिस प्रथमदृष्टया प्रेमप्रसंग को वारदात की वजह मान रही है। मनोज ढल हरियाणा के कैथल का मूल निवासी बताया जाता है।

वारदात से पहले हुई थी नोकझोंक
महिला सिपाही मेघा चौधरी के किराये के कमरे पर पहुंचे सिपाही मनोज की किसी बात को लेकर मेघा से नोकझोंक हुई थी। मनोज आवेश में आकर तेज आवाज में बोल रहा था। यह जानकारी दूसरे कमरे में रहने वाली सिपाही प्रिया ने दी। प्रिया की मानें तो तेज आवाज में बोलने और फिर गोली चलने की आवाज सुनकर ही प्रिया मेघा के कमरे की ओर दौड़ी तो दोनों लहूलुहान पड़े थे। ऊपर की मंजिल पर रहने वालीं मकान मालिक की पत्नी आंगनबाड़ी वर्कर सुधा रानी भी गोली की आवाज सुनकर नीचे पहुंचीं। पुलिस ने बताया कि मेघा के सीने पर दायीं ओर गोली लगी थी, जबकि मनोज के सीने पर बाईं तरफ।

सिपाही प्रिया ने सुनी गोली की आवाज
यह वारदात गजरौला की अवंतिका नगर कॉलोनी में हुई। कॉलोनी में रामपुर में तैनात पुलिसकर्मी नरेंद्र सिंह का मकान है। इस मकान में मुजफ्फरनगर जिले के तितावी गांव की मेघा चौधरी किराये पर रहती थी। इसी मकान के अलग कमरे में महिला सिपाही प्रिया भी रहती है। प्रिया ने गोलियां चलने की आवाज सुनी और सूचना गजरौला थाने के इंस्पेक्टर आरपी शर्मा को दी।

2018 बैच के हैं दोनों सिपाही
पुलिस ने मौके से तमंचा कब्जे में लेकर फोरेंसिक जांच के लिए भेजा है। कुछ समय बाद अमरोहा की एसपी सुनीति भी महिला सिपाही के कमरे पर पहुंच गईं। उन्होंने बताया कि दोनों के बीच प्रेमप्रसंग की चर्चा सामने आई है। दोनों 2018 बैच के सिपाही है। गहराई से वजह जानने के लिए मामले की जांच करवाई जा रही है।

27 साल की मेघा से प्यार के चर्चे
बताया जाता है सिपाही मनोज ने शनिवार रात से रविवार सुबह तक ड्यूटी की थी। रविवार को दिन में उसका रेस्ट मंजूर था। वह बिना किसी को बताए गजरौला पहुंच गया था। मनोज सैदनगली कस्बे में ही किराये का कमरा लेकर रहता है। मेघा की मकान मालकिन आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुधा रानी ने पुलिस को बताया कि कुछ माह पूर्व जब मेघा यहां रहने आई थी तो उसका सामान पहुंचाने के लिए मनोज साथ आया था। चर्चा ये भी है कि दोनों के बीच प्यार था, लेकिन किसी वजह से दोनों के बीच अनबन हो गई थी। हालांकि इस कोई अफसर बोलने को तैयार नही है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here