– आखिरी अरदास में नवरीत के घर पहुंची प्रियंका गांधी बोली, व्यर्थ नही जाएगी शहादत

रामपुर, डीडीसी। 26 जनवरी के दिन दिल्ली (Delhi) में किसान आंदोलन (Farmer movement) का हिस्सा बनने पहुंचे 27 साल के नवरीत की दर्दनाक मौत हो गई। ट्रैक्टर रैली (Tractor rally) में पुलिस बेरिकेड्स को तोड़ने की कोशिश में नवरीत का तेज रफ्तार ट्रैक्टर पलट गया और वो टैक्टर के नीचे दबकर मर (Death) गया। इस पर सियासतदान नवरीत को शहीद कह रहे हैं, जबकि सोशल मीडिया पर नवरीत को लोग जमकर कोस रहे हैं और इतना कि हम आपसे स्पष्ट तौर पर कुछ भी शेयर नही कर सकते। फिलहाल, देश से गायब हो चुकी कांग्रेस (Congress) अब किसान मुद्दे में संजीवनी तलाश रही है और आज कांग्रेस महासचिव (Congress General Secretary) और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी, (Priyanka Gandhi) नवरीत के आखिरी अरदास कार्यक्रम में पहुंची। उन्होंने नवरीत को शहीद बताया और कहा कि उसकी शहादत को कांग्रेस व्यर्थ नही जाने देगी।

क्या-क्या नही कहा लोगों ने नवरीत को
सोशल मीडिया साइड फेसबुक पर नवरीत को लेकर तमाम आपत्तिजनक टिप्पणियां की गईं हैं, जिनका dakiyaaa.com समर्थन नही करता। लोग नवरीत की मौत को सोशल मीडिया पर सही ठहरा रहे हैं और तर्क दे रहे हैं कि आखिर क्या जरूरत थी दिल्ली जा कर इस तरह के काम करने की। लोगों ने तो नवरीत की होने वाली पत्नी को भी नही बक्शा और उसके बारे में भी तमाम आपत्तिजनक बातें और भाषा का इस्तेमाल किया। हालांकि हम इतना जरूर कहना चाहेंगे कि नवरीत ने गलती की, लेकिन मौत के बाद उसे इस तरह जलील करने का हक किसी को नही।

‘किसान हैं, आतंकवादी न बनाए सरकार’
कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान हादसे में मरने वाले नवरीत के परिवार से मिलीं। उन्होंने कहा इस पूरे आंदोलन में कांग्रेस शहीद और किसानों के साथ है। देशहित ध्यान में रखते हुए सरकार को ये कानून वापस लेना चाहिए। प्रियंका गांधी ने कहा कि सरकार किसान आंदोलन को आतंकवाद से न जोड़े, ये किसान हैं आतंकवादी नहीं। प्रियंका 50 से अधिक वाहनों के काफिले के साथ बिलासपुर पहुचीं थीं। जहां फूल मालाओं से हुआ स्वागत।

कानून का साथ देने वाले सांसदों विधायकों का बहिष्कार करने का आह्वान
किसान आंदोलन में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान जान गंवाने वाले रामपुर के ग्राम डिबडिबा में नवनीत सिंह की अंतिम अरदास का कार्यक्रम जहां आयोजित किया गया, उसके पास ही में बैनर लगाकर किसान विरोधी कानून पर साथ देने वाले मंत्री, विधायक व सांसदों का बहिष्कार करने का आह्वान किया गया। यह आह्वान अखिल भारतीय किसान समन्वय समिति ने किया है।

यूपी और उत्तराखंड के नेता प्रतिपक्ष पहुंचे डिबडिबा गांव
गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई युवक नवरीत सिंह की मौत पर शोक जताने के लिए उत्तर प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी और उत्तराखंड की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश बिलासपुर के डिबडिबा गांव पहुंच चुके हैं।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here