– मंगलवार शाम कालाढूंगी में राह चलती महिला पर सांड का हमला

हल्द्वानी, डीडीसी। जंगल मे अब तक बाघ और गुलदार के हमलों का शिकार हो रहे लोग अब शहर में भी सुरक्षित नहीं हैं। मंगलवार शाम कालाढूंगी में एक सांड ने राह चलती महिला पर हमला कर दिया। उसे हवा में उछाला और जमीन पर पटक दिया। गुस्सैल सांड उसे तक तक मरता रहा जब तो वो मर नही गई।

बताया जाता है कि कमोला भूरी गांव कालाढूंगी निवासी दीपा देवी (35) पत्नी दयाल चंद्र आर्या यहां अपने चार बच्चों के साथ रहती है। दयाल चंद्र मजदूरी कर परिवार का पेट पालता है। दयाल की मानें तो मंगलवार शाम दीपा घर से कुछ सामान खरीदने बाजार गई थी। वापसी के दौरान एक सांड ने महिला पर हमला कर दिया।

पहले उसे उठा कर पटका और फिर कई बार वार किया। यह देख राहगीरों में भगदड़ मच गई। कुछ लोगों ने हिम्मत दिखाकर सांड पर हमला कर उसे भगाया, लेकिन तब तक दीपा बेदम हो चुकी थी। आनन-फानन में महिला को नजदीक के अस्पताल ले जाया गया।

हालत नाजुक होने पर चिकित्सकों ने उसे सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय रेफर कर दिया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here