चंदौली, डीडीसी। उत्तर प्रदेश में आज भी प्यार को पापी नजर से देखा जाता है। ताजा मामला एक ऐसी लडक़ी से जुड़ा है, जिसे प्यार करने और प्रेमी को पति बनाने की खौफनाक सजा मिली। लडक़ी को उसी के घरवालों ने बेहरमी से कत्ल कर दिया और मामले को दबाने के लिए चुपचाप लाश को ठिकाने लगा दिया। हालांकि मामला दब नहीं सका और ऑनर किलिंग के इस मामले में माता-पिता समेत 6 लोग पर प्रेमी ने मुकदमा दर्ज करा दिया है। मामला उत्तर प्रदेश के चंदौसी जिले से जुड़ा है।
चंदौसी के अलीनगर थाना क्षेत्र में प्रीति नाम की एक लडक़ी मेडिकल की तैयारी कर रही थी। प्रीति के ही इलाके मेें समाजवादी पार्टी के नेता अंकित यादव रहता है। बताया जाता है कि अक्सर अंकित प्रीति को आते-जाते देखता था। कई बार तो वह प्रीति के कालेज तक पहुंच गया। प्रीति को पता था कि अंकित के दिल में क्या है और शायद प्रीति के दिल में भी वैसा ही कुछ था। एक दिन हौसला जुटा कर अंकित ने प्रीति से बात की और अपने प्यार का इजहार कर बैठा। प्रीति ने भी बगैर कुछ सोचे हां कर दी। अब दोनों की मुलाकातों का सिलसिला चल निकला और प्यार गहरा होता गया। नौबत यहां तक आ गई कि अब दोनों शादी के लिए तैयार हो चुके थे, लेकिन उन्हें पता था कि इसके लिए प्रीति के घरवाले राजी नहीं होंगे। हुआ भी ऐसा ही, प्यार परवार चढ़ता इससे पहले ही सबको इस बात की भनक लग गई। प्रीति के परिवार वाले इस प्यार के खिलाफ हो गए। घरवालों ने प्रीति की शादी बनारस में तय कर दी, लेकिन प्रीति ने इस शादी से साफ इंकार कर दिया और सारा किस्सा अपने प्रेमी अंकित से साझा किया। प्रीति परिवार के खिलाफ चली गई और अंकित के साथ भाग कर कोर्ट मैरिज कर ली। प्रीति के इस कदम से परिवार बेहद खफा हो गया। इधर, कोर्ट मैरिज के बाद प्रीति अंकित के साथ ही रह रही थी। खफा परिवारजनों के मन में षडय़ंत्र पल रहा था। उन्होंने योजना के तहत प्रीति को यह कह कर घर बुलाया कि अब जो होना था वो हो गया। प्रीति से कहा कि वह घर आ जाए और फिर उसकी पूरे रीति-रिवाज के तहत शादी कराएंगे। हालांकि ऐसा कुछ नहीं हुआ। पति अंकित के घर से वापस मायके पहुंची प्रीति फिर कभी वापस अंकित के पास लौट नहीं पाई। प्रीति की उसी के घरवालों ने बेरहमी से हत्या कर दी और फिर चुपचाप लाश को ठिकाने लगा दिया। इधर, जब अंकित को प्रीति के बारे में परिवारवालों से कोई ठीक जवाब नहीं मिला तो वह पड़ताल में जुट गया और कुछ ही देर में सारा मामला साफ हो गया। वह पुलिस के पास पहुंचा और प्रीति के माता प्रभादेवी, पिता महेंद्र यादव समेत 6 लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया।

अंकित को दी थी कत्ल की धमकी
अंकित ने प्रीति के परिवारवालों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। बताया गया कि प्रीति की मौत की खबर मिलने के बाद वह डिप्रेशन में चला गया था। प्रीति के बारे में बार-बार पूंछने पर परिवारवालों से कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला, उल्टा उसे जान की धमकी दी गई। कहा गया कि अगर फिर पूछताछ की तो उसे भी जान से मार देंगे।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here