– वारदात के बाद सेना की पिथौरागढ़ यूनिट में मुंह छिपा कर बैठा था आरोपी

पौड़ी, डीडीसी। घर से बाजार निकली एक दलित लड़की को सेना के जवान अमित सिंह ने अपनी हवस का शिकार बना डाला। उसके इस कुकर्म में दोस्त आशीष सिंह भी बराबर का भागीदार बना। वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों फरार हो गए। जब लड़की ने जुर्म के खिलाफ आवाज उठाई तो आरोपी के घरवालों ने उसे बंधक बना कर पीटा। हालांकि अब सेना की पिथौरागढ़ यूनिट में मुंह छिपा कर बैठे जवान को पुलिस ने दबोच लिया है। मामले में दूसरा आरोपी भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

मुकदमा दर्ज कराने के बाद बौखलाए आरोपी के घरवाले
पीड़िता की शिकायत पर राजस्व पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। इससे नाराज आरोपी अमित के परिजनों ने युवती को घर बुलाया और उसकी जमकर पिटाई कर दी। युवती के हाथ और पैरों में चोटें आई हैं। घटना के बाद से दोनों आरोपी फरार हैं। एसडीएम के आदेश पर मामला रेगुलर पुलिस को सौंप दिया गया है। पौड़ी जिला अस्पताल में घायल हालत में पहुंची दलित युवती ने बताया कि बीते 20 मार्च को वह अपने गांव से बाजार जा रही थी। इसी दौरान गांव के दो युवकों अमित सिंह और आशीष सिंह ने उसके साथ दुष्कर्म किया।

“मुकदमा लिखा, लेकिन राजस्व पुलिस ने कार्यवाही नही की”
वारदात को अंजाम देने के बाद अमित और आशीष लड़की को धमकाया की अगर इस बारे में किसी को बताया तो जान से मार देंगे। पीड़िता का कहना है कि इस बारे में उसकी ओर से राजस्व पुलिस में तहरीर दी गई थी। राजस्व पुलिस में 21 मार्च को दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था, लेकिन आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। इस बारे में राजस्व उपनिरीक्षक गजेंद्र दत्त रतूड़ी ने बताया कि मामले में दोनों आरोपियों के खिलाफ एससी-एसटी ऐक्ट, दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी दिए जाने का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी घटना के दिन से ही फरार हैं। गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश भी दी गई लेकिन कुछ पता नहीं चल सका।

सामाजिक संगठनों ने दिया था अल्टीमेटम
पौड़ी तहसील के एक गांव में दलित युवती से दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने आरोपी फौजी समेत दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों 20 मार्च से फरार थे। गिरफ्तारी न होने पर सामाजिक संगठनों ने आंदोलन करने का अल्टीमेटम दिया था। सामाजिक संगठनों की नाराजगी इस बात से और थी कि आरोपियों की काली करतूत पर न सिर्फ उनके घरवालों ने पर्दा डालने की कोशिश की, बल्कि मुंह बंद रखने के लिए लड़की से भी मारपीट की।

शनिवार शाम पकड़े गए दोनों आरोपी
दलित युवती की पिटाई के बाद इस मामला में हो हल्ला शुरू हुआ। जिसके बाद पूरा मामला रेगुलर पुलिस के हैंडओवर कर दिया गया। पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि हुई तो पुलिस हरकत में आ गई और दोनों आरोपियों की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू की गई। सीओ सदर पीएल टम्टा ने बताया कि शनिवार शाम आरोपी जवान अमित सिंह को सेना की पिथौरागढ़ यूनिट से और दूसरे आरोपी आशीष सिंह को बुआखाल के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here