– हल्द्वानी में बीवी के ही दुपट्टे को बना लिया फांसी का फंदा

हल्द्वानी, डीडीसी। बात बस इतनी थी कि वो बल काले कराना चाहता था और पत्नी ने इसके लिए पैसे नही दिए। बस इतनी बयँ से खफा पति ने पत्नी के ही दुपट्टे को फांसी का फंदा बना लिया। सुबह तक जब दरवाजा नही खुला तो पत्नी को शक हुआ और दरवाजा तोड़ा गया तो वो सत्र रह गई। सामने फंदे पर पति की लाश लटक रही थी।

मां की बरसी से एक दिन पहले लगाया मौत को गले
आनंद बल्लभ पांडे (40) पुत्र स्व.नंदा बल्लभ पांडे मूलरूप से पलौली चैलछीना अल्मोड़ा का रहने वाला है और यहां तल्ली हल्द्वानी में पत्नी व दो बच्चों के साथ रहता था। ठीक एक साल पहले आनंद के मां की मौत हो थी और आज यानी मंगलवार को उसकी बरसी थी, लेकिन मां की बरसी से ठीक एक दिन पहले उनसे फांसी लगा ली। आनंद मां की बरसी में जाने के लिए ही बाल काले करना चाहता था।

पहले ट्रक का मालिक था, अब चाय की दुकान थी
आनंद की बड़ी मंडी में चाय की दुकान थी, लेकिन कुछ साल पहले वह एक ट्रक का मालिक था। हादसे में ट्रक के साथ आनंद भी लगभग अपाहिज हो गए और आर्थिकी खराब हो गई। उसने कुछ वक्त तक दिल्ली में अपने भाई के साथ भी नौकरी की, लेकिन बच्चों की वजह से हल्द्वानी वापस लौट आया और यही चाय की दुकान खोल ली। हालांकि आर्थिकी लगातार खराब हो रही थी। वो शराब भी पीने लगा।

क्या हुआ पति-पत्नी के बीच रविवार रात को
मंगलवार को आनंद की मां की बरसी थी। बताया जाता है कि शाम आनंद पत्नी से बाल काले करने के लिए पैसे मांग रहा था और कह रहा था कि रात ही स्कूटी से अल्मोड़ा जाएगा। पत्नी यह कहते हुए पैसे देने से मना कर दिया कि जब बरसी में मुंडन होना तो बाल काले करा कर क्या फायदा और जब जाना ही है तो दिन में जाना। इस पर दोनों में कहासुनी हुई और आनंद ने कमरा अंदर से बंद कर लिया। आनंद रोज सुबह दुकान जाने के लिए चार बजे उठ जाता था, लेकिन सोमवार को नहीं उठा। दरवाजा न खुलने पर पत्नी ने जाली से झांक कर देखा तो सन्न रह गई। पत्नी के दुपट्टे से आनंद की लाश लटक रही थी।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here