मुंबई, डीडीसी। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत हुई और कत्ल का आरोप उनकी गर्ल फ़्रैंड रिया पर लगा। बात बढ़ी तो रिपब्लिक भारत मीडिया ने सुशांत के लिए मुहिम छेड़ दी। मौत और कत्ल के एंगल में ड्रग्स की एंट्री हो गई। जबरदस्त मीडिया ट्रायल हुआ और रिया को सलाखों के पीछे पहुंच गईं, लेकिन वह रिहा भी हो गईं। बावजूद इसके सुशांत की मौत से पर्दा नहीं उठा। अब सुशांत की आत्मा अशांत है और मुहिम छेड़ने वाले रिपब्लिक भारत टीवी के सीनियर एडिडर हवालात के अंदर। कुल मिला कर अब ये मुद्दा महाराष्ट्र बनाम राष्ट्र हो चला है। हो भी क्यों ना, क्योंकि सारे मुद्दे पर महाराष्ट्र सरकार की भूमिका संदिग्ध है। ऐसे में लाज़िमी है कि महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ पूरे राष्ट्र से आवाज उठे।

सुशांत केस में कब क्या हुआ

14 जून वर्ष 2020 को सुशांत की मौत हुई। उनकी लाश उन्हीं के बेडरूम में मिली। लाश को सबसे पहले उन्हीं के दोस्त नीरज सिंह ने देखा। नीरज का दावा था कि लाश कमरे में फंदे से लटक रही थी। इस मामले में मुम्बई पुलिस ने प्राथमिक जांच में ही मौत को सुसाइड घोषित कर दिया। मामले में मोड़ तब आया जब सुशांत के पिता रिया पर आत्महत्या के लिए उकसाने का शक जताया। मुम्बई पुलिस को इस बात से इत्तेफाक नही था और सुशांत के पिता को मुंबई पुलिस पर भरोसा नही था। रिया के खिलाफ मामला दर्ज किया बिहार पुलिस ने। ये नागवार गुजरा मुम्बई पुलिस को और जांच को पहुंचे बिहार पुलिस के अधिकारी को क्वारन्टीन कर दिया गया। अब मामले बिहार और महराष्ट्र सरकार आमने-सामने थी। ऐसे में पूरी जांच सीबीआई के सुपुर्द कर दी और ईडी ने रुपयों के एंगल से जांच शुरू की। मामले में रिया चक्रवर्ती, शौविक चक्रवर्ती, सिद्धार्थ पिठानी, नीरज सिंह, केशव, दीपेश सावंत, सैमुअल मिरांडा, महेश शेट्ठी, संदीप सिंह, सुरजीत सिंह राठौड़, जया साहा, गौरव आर्या, इंद्रजीत चक्रवर्ती और रजत मेवाती पर गंभीर आरोप लगे। मामले में रिया और रिया का भाई शौविक गिरफ्तार किए गए। कुछ दिन सलाखों में गुजारने के बाद रिया रिहा हो गईं। रिया भी सुशांत के नही बल्कि ड्रग्स के मामले में जेल गईं थीं। मामले में फ़िल्म डायरेक्टर महेश भट्ट, डायरेक्टर- प्रोड्यूसर संजय लीला भंसाली, डायरेक्टर आदित्य चोपड़ा, मुकेश छाबड़ा, निर्देशक शेखर कपूर, फ़िल्म समीक्षक राजीव मसंद से भी पूछताछ हुई। हालांकि सारी शंकाओं का समाधान होना अभी भी बाकी है।

क्या है रिया का पूरा मामला

रिया चक्रवर्ती बॉलीवुड में एक स्ट्रगलर एक्टर हैं। उन्होंने कई फिल्मों में किया, लेकिन सफलता नही मिली। वह सुशांत की दूसरी गर्लफ्रैंड थीं और सुशांत के साथ ही रहती थीं। सुशांत ने उन पर करोड़ो रुपए खर्च किए। सवाल तब खड़े हुए जब मौत से कुछ दिन पहले ही 8 जून को वह सुशांत को छोड़कर चली गईं। आरोप लगा कि रिया ने सुशांत के करोड़ो रूपये, मानसिक प्रताड़ना और आत्महत्या के लिए उकसाया। आरोप यह भी लगा कि रिया ने ही सुशांत को ड्रग एडिक्ट बनाया। हालांकि यह बात भी अभी साबित होनी बाकी है।

और अब अर्णब का क्या होगा

सुशांत केस में अगर सबसे बुलन्द आवाज की बात की जाए तो रिपब्लिक भारत ने सिर्फ बढ़चढ़ कर इस मुहिम को आगे बढ़ाया, बल्कि चैनल ने शोहरत भी हासिल की। रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी की इस मामले में महाराष्ट्र सरकार से सीधी भिड़ंत हो गई। आरोप ये लगा कि सुशांत की मौत और ड्रग्स मामले को सरकार दबाना चाहती है। रिपब्लिक के निशाने पर महाराष्ट्र पुलिस भी थी। जिसके बाद महराष्ट्र सरकार और पुलिस ने रिपब्लिक मीडिया की घेराबंदी शुरू कर दी। आलम यह हुआ कि वर्ष 2018 के एक मामले में अर्णब को गिरफ्तार कर लिया गया। अर्णब पर इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक व उनकी मां कुमुद नाइक पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है। इस सुसाइड के में पुलिस को अन्वय का सुसाइड नोट मिला, जिसमे उसने अर्णब के साथ फिरोज शेख और नितेश सारडा पर आरोप लगाए और कहा कि अर्णब ने रिपब्लिक नेटवर्क स्टूडियो का इंटीरियर डिजाइन कराने के बाद रूपयों का भुगतान नही किया। इस मामले में अर्णब अब सलाखों के पीछे हैं कोर्ट ने मामले को दोबारा खोलने के आदेश दे दिए है। अर्णब को अब सुप्रीम कोर्ट से उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here