बेगूसराय, डीडीसी। बैंड-बाजा बज रहा था, लोग खुश थे और झूम कर नाच-गा रहे थे… इन सबके पीछे सेहरे से चेहरा ढके दूल्हा अपनी दुल्हन विदा कराने को बेताब। तभी इस शोर भरे जश्न में गोलियां चलीं और एक गोली किसी के सिर को चीरते हुए निकल गई। खुशिया खून से लाल हो गईं और सन्नाटा पसर गया। 14 साल का एक बच्चा जमीन पर पड़ा था। ये बच्चा दूल्हे के भतीजा था और मर चुका था।
ये घटना बिहार के बेगूसराय की है। यहां बिहट खेमकरणपुर टोला के रहने वाले रजनीश पुत्र अरुण सिंह की शादी जोकिया गांव में तय हुई थी। तय समय के साथ बरात तैयार थी। दूल्हा की अगुवाई में दोस्त, रिश्तेदार नाच रहे थे। इस खुशी में कई लोग हर्ष फायरिंग भी कर रहे थे। नाचने वालों में दूल्हे के चचेरा भतीजा 14 साल का खेमकरन भी था। क्या हुआ, कैसे हुआ कुछ पता नही और तभी एक गोली खेमखरन के सिर में लग गई। एक गोली से खेमखरन का भेजा बाहर आ गया और लहूलुहान होकर वह जमीन पर गिर गया। किसी को कुछ समझ नही आया कि गोली किसने चलाई। आनन-फानन में खेमखरन को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। चिकित्सकों ने खेमखरन को मृत घोषित कर दिया।

हर्ष फायरिंग नही ये हत्या है
इस घटना के बाद परिजनों ने एनएच-31 को जाम कर दिया। जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर जा पहुंची। परिजनों का कहना था कि ये मौत हर्ष फायरिंग से नही हुई बल्कि ये सोची समझी साजिश के तहत की गई हत्या है। कुल मिलाकर पुलिस ने किसी तरह नाराज परिजनों को समझाबुझा कर शांत कराया और जाम खुलवाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here