हरियाणा में एसडीएम समेत 12 के खिलाफ एफआईआर, अश्लीलता समेत कई आरोप

जींद, डीडीसी। दो बच्चे, पति और वो खुद। पति सिक्योरिटी गार्ड और वो खुद हरियाणा के उचाना में सरल केंद्र में कम्प्यूटर ऑपरेटर। 35 साल की भतेरी जहर खाकर जान दे दी, लेकिन जान देने पहले उसने जो खुलासे किए तो सब चौंक गए। सुसाइड से पहले भतेरी ने एक ऑडियो क्लिप बनाई और 5 पन्नों का सुसाइड नोट लिखा। इस सुसाइड नोट में एसडीएम (SDM) समेत दफ्तर के 12 लोगों को कसूरवार ठहराया गया। सभी के खिलाफ धारा 306 मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। मामला हरियाणा के जींद जिले की उचाना तहसील से जुड़ा है।

प्रताडऩा, गलत काम और अश्लील हरकत के आरोप
खटकड़ गांव की रहने वाली भतेरी पत्नी दिनेश उचाना तहसील के सरल केंद्र में आउटसोर्सिंग के तहत कंप्यूटर ऑपरेटर का काम करती थी। सुसाइड नोट और वाइस रिकार्डिंग में उसने एसपी से गुहार लगाई और उचाना के एसडीएम समेत 12 कर्मचारियों पर प्रताडऩा, गलत काम करने, अश्लील हरकत करने के आरोप लगाए हैं। सुसाइड नोट के आधार पर उचाना थाना पुलिस ने एसडीएम समेत 12 लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने, छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज किया है।

पुरुषों के बीच फंस गई थी इकलौती महिला कर्मी
सरल केंद्र में पुरुष कर्मचारियों की भरमार थी। जबकि महिला कर्मचारी के नाम पर केवल एकलौती भतेरी ही कार्यालय में महिला कर्मचारी के तौर पर तैनात थी। इसी बात का फायदा भतेरी के सहकर्मी उठाते थे। सुसाइड नोट में लिखा है कि पिछले पांच-छह महीने से सहकर्मी मन्नू, संदीप, प्रवीण सुखदेव, भारत भूषण, अर्जुन, अतुल, समेत दूसरे कर्मचारी उसे प्रताडि़त कर रहे थे। उसके साथ अश्लील हरकत की जा रही थी और दफ्तर के अन्य गलत काम करने का दबाव बनाया जा रहा था।

लॉग इन आईडी का हो रहा था गलत इस्तेमाल
सुसाइड नोट में भतेरी ने कई गम्भीर आरोप लगाए हैं। इन्हीं में से एक आरोप सरल केंद्र में व्याप्त भ्रष्टाचार था। सुसाइड नोट पर भरोसा करें तो भतेरी की यूजर-आईडी को लॉग इन कर गलत तरीके से ड्राइविंग लाइसेंस बनाए जाते थे। साथ ही सरल केंद्र की आईडी को दफ्तर से बाहर दूसरी जगह ना सिर्फ लॉगइन किया जा रहा था, बल्कि ड्राइविंग लाइसेंस भी जारी किए जा रहे थे। रविवार को भी उसकी यूजर आईडी से उसकी अनुपस्थिति में कैश कटा। एसडीएम उचाना को शिकायत करने के बावजूद उन्होंने किसी तरह की कोई कार्यवाही आरोपियों के खिलाफ नही की और फिर भतेरी ने मौत को गले लगा लिया।

पति से नही किसी तरह का गिला-शिकवा
सुसाइड नोट में मृतका ने एक बात और साफ की है और वो ये की उसके साथ प्रताडऩा जब हद से ज्यादा हुई तो उसने आत्महत्या का कदम उठाया है। पति समेत परिवार के दूसरे लोगों से किसी तरह का कोई गिला-शिकवा नहीं है। मृतका की बेटी 15 और बेटा 10 साल का है। बेटी ने इस मामले की जनकारी पुलिस को दी थी।

एसडीएम बोले, मृतका ने नहीं की थी शिकायत
एसडीएम ने कहा कि महिला ने कभी भी उनसे मुलाकात करके न तो परेशान करने वाले कर्मचारियों की शिकायत दी और न ऑफिस की समस्या बताई। महिला की गैर मौजूदगी में कैश कटने सहित दूसरे आरोपों की भी जांच कराई जाएगी। वहीं डीएसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि सुसाइड नोट और महिला के पति के बयान के आधार पर 12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। सुसाइड नोट में महिला ने न्याय मिलने के साथ और उपरोक्त कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात लिखी है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here