– पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने बयां की यूपी पुलिस की हैवानियत

भरत गुप्ता, (उन्नाव) डीडीसी। फैसल की मौत पर हार्ट अटैक की कहानी गढ़ने वाली उत्तर प्रदेश की हैवान पुलिस की हैवानियत पोस्टमार्टम रिपोर्ट में काली स्याही से दर्ज हो चुकी है। हैवान पुलिस ने सब्जी बेचने वाले फैजल से जाने किस बात का बदला लिया, जो उसे जूतों से पीट-पीट कर मार डाला। शरीर का शायद ही कोई अंग बचा होगा, जहां पुलिस के जूतों और लाठी की मार न पड़ी हो। ऐसे ही 14 गंभीर घाव फैजल के मुर्दा जिस्म पर मिले हैं और पोस्टमार्टम रिपोर्ट चीख-चीख कर पुलिस के हैवानियत की कहानी बयां कर रही है। मामला उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले का है।

जुर्म बस इतना कि आंशिक कर्फ्यू में सब्जी बेचने निकल पड़ा
उन्नाव जिले के बांगरमऊ कस्बे के मोहल्ला भटपुरी का रहने वाला फैजल (18) उन्नाव में ठेला लगाकर सब्जी बेचता था। उसकी गलती सिर्फ इतनी थी कि आंशिक कर्फ्यू होने के बावजूद फ़ौजल शनिवार को सब्जी बेचने निकल पड़ा। पुलिसकर्मियों विजय चौधरी और सत्य प्रकाश के साथ एक होमगार्ड ने पूंछताछ के लिए उसे रोकना चाहा, लेकिन वो नही रुका और फिर पुलिस हैवान बन गई।

सड़क से ही पीटना शुरू किया और पीटते रहे
परिजनों का आरोप पुलिस वालों ने उसे सड़क से पीटना शुरू कर दिया था और पीटते हुए ही उसे जीप में डाल दिया। जीप में उसे जूतों और लात-घूंसों से पीटा। कोतवाली पहुंचे तो पुलिस आपा खो बैठी। मार से उसकी हालत बिगड़ गई। बताया जाता है कि कोतवाली में ही फैजल मर गया। हालांकि उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। इसके बाद पुलिस ने कहानी रची कि फैजल हार्ट अटैक से मर गया, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने पुलिस की फिल्मी कहानी से पर्दा उठा दिया।

सिर, छाती, पेट और पीठ में 14 घाव
पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यह साफ हो गया है कि फैजल की मौत हार्ट अटैक से नही हुई बल्कि सिर और जिस्म के अन्य हिस्सों पर लगी चोट से उसकी मौत हुई। रिपोर्ट में फैजल के जिस्म पर 14 गंभीर घाव होने की बात दर्ज है। सिर पर लगी चोट भी पुलिस के जूतों की वजह से आई और यही उसकी मौत की वजह बनी। इसके अलावा शरीर के अन्य हिस्सों पर भी लाठी और जूतों के घाव हैं।

साहब ने स्वीकारा, जूते मारे गए फैजल को
उन्नाव के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) शशि शेखर सिंह ने शनिवार को कहा कि हालांकि मेरे पास इस समय कोई रिपोर्ट नहीं है। हमें मिली जानकारी से पुष्टि होती है कि म़तक के शरीर पर चोट के निशान हैं। पोस्टमार्टम से पता चला कि शरीर के अलावा मृतक के सिर पर चोट के निशान थे। उन्होंने कहा कि सिर की चोटों से पता चलता है कि वे जूते मारे जाने के कारण थे। फिलहाल, दोषियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here