– चुनाव से पहले जनता को लुभाने की पूरी कोशिश करेगी सरकार

देहरादून, डीडीसी। अगले साल उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव हैं और अब सरकार के पास जनता का दिल जीतने का आखिरी मौका है। ये त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार का आखिरी बजट होगा, जो आज 4 मार्च को विधानसभा में पेश किया जाएगा। कुल मिलाकर त्रिवेंद्र सरकार आज जनता को आखिरी तोहफा देने जा रही है और जाहिर कि चुनाव से पहले पेश होने वाले इस बजट में सरकार सबको खुश करने की कोशिश करेगी। मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत शाम तकरीबन 4 बजे वित्‍तीय वर्ष 2021-22 का बजट पेश करेंगे।

56 हजार करोड़ का हो सकता है बजट
इस बार का बजट 56 हजार करोड़ रुपये का होने का अनुमान है. चुनाव से पहले पेश होने वाले इस बजट के लोकलुभावन होने की संभावना है। शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि इस बार का बजट जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरने वाला होगा। इसमें युवाओं, महिलाओं, किसानों समेत हर वर्ग का खास ख्‍याल रखा जाएगा।

हरदा ने की बजट बंटाधार करने की कोशिश
बजट पेश होने से पहले गैरसैण पहुंचे पूर्व मुख्‍यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हरीश रावत ने बजट का बंटाधार करने की कोशिश की। हरीश रावत विधानसभा भवन के बाहर मीडिया से मुखातिब हुए। उन्होंने कहा, जनता को बजट से ज्यादा उम्मीद नहीं रखनी चाहिए। क्योंकि सरकार पिछले बजट का आधा पैसा खर्च नहीं कर पाई। वर्ष 2016-17 में 21 फीसदी राजस्व वृद्धि दर थी, जो आज घटकर साढ़े 9 फीसदी रह गई है। इससे साफ है कि संसाधनों की स्थिति इतनी कमजोर है कि राज्य सरकार बजट योजनाओं का दो तिहाई हिस्सा भी पूरा नहीं कर पाई है।

मुन्ना सिंह ने दिया हरदा को जवाब
हरीश रावत ने जब बजट पेश होने से पहले ही बजट को सवालों के कटघरे में खड़ा किया तो पलटवार करने के लिए भाजपा के तेजतर्रार विधायक एवं प्रदेश के मुख्य प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान सामने आए। उन्होंने कहा, कोविड से देश-दुनिया की अर्थव्यवस्था चौपट हुई और उस वक्त भी उत्तराखंड में राजस्व वृद्वि दर साढे़ 9 फीसदी पर टिकी रही। कोरोना काल में जनता के लारजेस्ट इटंरेस्ट में रेवन्यू वसूली कम की गई।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here