– मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर किया पूर्व कमिश्नर ने सनसनीखेज खुलासा

मुंबई, डीडीसी। अंबानी के घर के बाहर स्कॉर्पियो में विस्फोटक मिलने के बाद रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। इन खुलासों के साथ महाराष्ट्र का राजनीतिक और प्रशासनिक तंत्र भ्रष्टाचार की आग से बुरी तरह झुलस रहा है। इस आग से अब महाराष्ट्र के गृहमंत्री की कुर्सी भी घिर चुकी है। गृहमंत्री अनिल देशमुख पर मुम्बई के बार और रेस्तरां से उगाही कराने का आरोप है। हर महीने 100 करोड़ का टारगेट सेट था और इस वसूली की जिम्मेदारी हाल ही में सुर्खियों में अनिल वाझे पर थी। इन सारी बातों का जिक्र महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखी चिट्ठी में मुम्बई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने किया है।

देशमुख ने किया परमबीर का तबादला, फिर परमबीर ने लिखा खत
परमबीर सिंह को हाल ही में मुंबई पुलिस आयुक्त पद से हटाया गया है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि आईपीएस अधिकारी के कुछ सहकर्मियों की गलती गंभीर और माफ नहीं की जा सकती। इसी के चलते उनका तबादला किया गया। परमबीर सिंह के तबादले के बाद देशमुख ने कहा था कि इस कदम का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि पुलिस अधिकारी सचिन वाजे प्रकरण की जांच उपयुक्त तरीके से और बगैर किसी बाधा के हो। इधर, तबादला होते ही परमबीर छुट्टी पर चले गए और अब उनका देशमुख के खिलाफ मुख्यमंत्री को पत्र।

वाजे और परमबीर दोनों रडार पर
मुंबई पुलिस के पूर्व अधिकारी सचिन वाझे पर उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटकों से भरी स्कॉर्पियो पार्क करने का आरोप है। आरोप है कि स्कॉर्पियो पार्क करने में वाजे के साथ पूरी की पूरी टीम शामिल है। वाजे को एनआईए ने हाल ही में गिरफ्तार किया है। जबकि परमबीर सिंह, उद्योगपति मुकेश अंबानी के दक्षिण मुंबई स्थित आवास के बाहर स्कॉर्पियो मामले को निपटने के तरीके को लेकर आलोचना का सामना कर रहे थे। इस गाड़ी से जिलेटिन की छड़े बरामद हुई थी।

परमबीर और वाझे को उद्धव का आशीर्वाद
महाराष्ट्र के वरिष्ठ भाजपा नेता व पूर्व मुख्यमंत्री देंवेंद्र फडणवीस ने एटीलिया केस में गिरफ्तार हुए सचिन वाझे को लेकर उद्धव ठाकरे सरकार को घेरा था। उन्होंने विधानसभा में दावा किया था कि जव वह शिवसेना के साथ मिलकर सरकार चला रहे थे तब भी उद्धव ठाकरे ने वाझे को बहाल करने का उन पर दबाव बनाया था। पूर्व सीएम ने कहा कि उन्होंने कानूनी सलाह और वाझे के रिकॉर्ड को देखते हुए बहाल नहीं किया था।

वसूली का धंधा करते है देशमुख : बीजेपी
पूर्व पुलिस कमिश्नर के सनसनीखेज आरोप के बाद बीजेपी महाराष्ट्र सरकार पर हमलावर हो गई है। बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने कहा है कि गृह मंत्री अनिल देशमुख वसूली का धंधा करते थे। सचिन वाझे उनका वसूली एजेंट था। बीयर बार से लेकर हर जगह से वसूली का काम करते थे। गृह मंत्री अनिल देशमुख को तुरंत हटा देना चाहिए।बीजेपी नेता राम कदम ने कहा कि 16 महीने से महाराष्ट्र में ठाकरे की सरकार है और इन 16 महीनों में1600 करोड़ रुपये देशमुख के पास जमा हो चुके है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here