– भारत के बैंकों का हजारों करोड़ लेकर फरार है शराब कारोबारी विजय माल्या

लंदन, डीडीसी। भारत के बैंकों का अरबों रुपया लेकर फरार हुआ भगौड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या (Vijay Malya) ब्रिटेन (Britain) में मुंह छिपाने के लिए अब नया बिल खोद रहा है। अगर भगौड़ा अपने नए पैंतरे में कामयाब हो गया तो उसे भारत लाना मुश्किल हो जाएगा। माल्या ने ब्रिटेन में गृह मंत्री प्रीति पटेल के सामने एक नई अर्जी लगाई है।

ब्रिटेन में शरण चाहता है भगौड़ा
ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल को गई अर्जी के बारे में विजय माल्या के वकील ने शुक्रवार को ब्रिटेन की कोर्ट में दी। माल्या को भारत सरकार को प्रत्यर्पित करने के खिलाफ दायर याचिका को पिछले साल अक्टूबर में ही खारिज कर दिया था। विजय माल्या फिलहाल तब तक जमानत पर है जब तक पटेल उसे भारत प्रत्यर्पित करने के आदेश पर हस्ताक्षर नहीं कर देतीं।

गोपनीय कानूनी प्रक्रिया में फंसा प्रत्यर्पण का आदेश
ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने इस संबंध में सिर्फ इस बात की पुष्टि की है कि प्रत्यर्पण आदेश पर अमल किये जाने से पहले कुछ गोपनीय कानूनी प्रक्रिया चल रही है। इससे ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि माल्या ने ब्रिटेन में शरण मांगी थी। हालांकि ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने न तो इस बात की पुष्टि की है और न ही इससे इनकार किया है।

पहले प्रत्यर्पण अनुरोध या शरण के लिए आवेदन
कोर्ट में इन्सॉल्वेंसी एंड कंपनीज के जज निगेल बार्नेट ने माल्या के वकील फिलिप मार्शल से प्रत्यर्पण को लेकर सवाल पूछे। इसके जवाब में उन्होंने कहा कि माल्या ब्रिटेन में रहने के लिए एक और रास्ता तलाश रहे हैं। इसके लिए उन्होंने गृह मंत्री प्रीति पटेल के सामने एक नई अर्जी लगाई है। कहा जा रहा है कि ये माल्या के द्वारा ब्रिटेन में शरण लेने का एक और तरीका हो सकता है। कानूनी विशेषज्ञों के अनुसार उन्हें वहां शरण मिलेगी या नहीं ये इस बात पर निर्भर करेगा कि माल्या ने प्रत्यर्पण अनुरोध से पहले शरण के लिए आवेदन किया या नहीं।

9 हजार करोड़ लेकर भागा है माल्या
पिछले हफ्ते केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि विजय माल्या को ब्रिटेन से भारत लाने के सभी प्रयास किये जा रहे हैं, लेकिन कुछ बिन्दुओं पर चल रही कानूनी कार्यवाही की वजह से देरी हो रही है। सरकार ने न्यायालय को बताया था कि भगोड़े कारोबारी विजय माल्या का उस समय तक भारत प्रत्यर्पण नहीं हो सकता जब तक ब्रिटेन में चल रही एक अलग गोपनीय कानूनी प्रक्रिया का समाधान नहीं हो जाता। विजय माल्या बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस पर बैकों का नौ हजार करोड़ रूपए से भी अधिक बकाया राशि का भुगतान नहीं करने के मामले में आरोपी है।

--Advertisement--

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here