– बर्फीले इलाकों में रह रहे लोगों को मतदान स्थल तक ले जाएगा हेलीकॉप्टर

देहरादून, डीडीसी। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Elections 2022) में शत प्रतिशत मतदान का संकल्प लेकर बैठी उत्तराखंड सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। राज्य पहली बार मतदाताओं को मतदान स्थल तक ले जाने के लिए हेलीकॉप्टर सुविधा की शुरुआत की है।

BRO देगा मजदूरों को ये सुविधा
राज्य के बर्फीले और दुर्गम क्षेत्र के लोग भी आसानी से वोट डाल सकें, इसके लिए भी काफी सराहनीय कदम उठाए गए हैं। उत्तरखंड के बर्फीले क्षेत्र में रहने वाले मजदूरों को वोट डालने के लिए हेलीकॉटर की सुविधा दी जा रही है। ये मजदूर पहली बार हेलीकॉप्टर से वोट डालने जाएंगे। बता दें कि भारत-चीन सीमा पर बन रही सड़कों में काम कर रहे करीब सौ मजदूरों को भारी बर्फबारी के चलते बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन (BRO) ये सुविधा देगा। बीआरओ के अफसरों का कहना है कि उनकी कोशिश हर श्रमिक को मतदान केंद्र तक पहुंचाने की है।

34 सौ मीटर ऊंचाई पर सड़क बना रहे हैं श्रमिक
पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी में 3400 मीटर की ऊंचाई पर मिलम-लास्पा में बड़ी संख्या में श्रमिक भारत-चीन सीमा को जोड़ने वाली सड़क के निर्माण कार्य में जुटे हुए हैं। मुनस्यारी से करीब 54 किमी दूर लास्पा में 6 फीट से अधिक हिमपात हुआ है। मतदान की तारीख तक भी बर्फ से ढके पैदल मार्गों के खुलने के कोई आसार नहीं हैं।

पैदल आवाजाही भी मुश्किल
बताया जा रहा है कि 15 से 31 किलोमीटर तक रास्तों में कई जगह बर्फ जमी है। ऐसे में पैदल आवाजाही मुश्किल है। इन हालातों को देखते हुए बीआरओ ने अपने श्रमिकों को हेलीकॉप्टर से मतदान केंद्रों तक पहुंचाने का फैसला लिया है। उत्तरकाशी में बीआरओ के मेजर वीएस वीनू ने बताया कि अधिकांश रूट खुले हैं। आवाजाही की दिक्कत नहीं है।

81,43,922 लाख मतदाता हैं उत्तराखंड में
गौरतलब है कि 14 फरवरी को उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे। कुल 70 विधानसभा सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए इस बार आम आदमी पार्टी ने भी ताल ठोकी है। उत्तराखंड में कुल 81,43,922 वोटर्स हैं, जिनके वोट को लेकर भाजपा और कांग्रेस इस चुनाव में मुख्य प्रतिद्वंद्वी पार्टियां हैं। प्रदेश में चुनाव कोरोना नियमों का पालन करते हुए सम्पन्न कराएं जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here