– हत्यारा पति गिरफ्तार, ससुर ने दर्ज कराया मुकदमा

टिहरी, डीडीसी। उसे शक था कि उसकी बीवी का किसी और (Boyfriend) के साथ चक्कर चल रहा है। इसी शक ने एक रक्तरंजित (Murder) वारदात को अंजाम दे डाला। पति-पत्नी के इसी को लेकर विवाद हुआ और बात इतनी बढ़ी कि उसने हाथ में चाकू उठा लिया और बीवी पर ताबड़तोड़ हमले शुरू कर दिए। वो तब तक चाकू से वार करता रहा, जब तक उसके प्राण नही निकल गए। महिला की लाश घर के नीचे खेत में मिली। आरोपी पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मृतका के पिता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। वारदात उत्तराखंड (Uttarakhand) में टिहरी (Tihari) के घनसाली थाना इलाके की है।

लॉक डाउन में विदेश से लौटा था घर
बताया जाता है कि आरोपी विक्रम सिंह पुंडीर घनसाली थाना के नेलचामी पट्टी के थार्ती गांव का रहने वाला है। विक्रम विदेश में नौकरी करता था। कोरोना में लॉक डाउन लगा और विक्रम लौट के अपने गांव आ गया। तब से विक्रम घर में ही था और इसी दरम्यान उसे शक हुआ कि उसकी पत्नी शशि (27) का किसी और के साथ अफेयर चल रहा है। इसी को लेकर अक्सर दोनों के बीच विवाद होता था और यही विवाद शशि की मौत की वजह बन गया।

अकेला रह गया 3 साल का बेटा
विक्रम सिंह पुंडीर अपनी पत्नी शशि देवी और 3 साल का बेटे के साथ रहता था। विक्रम ने पत्नी की हत्या कर दी, लेकिन वारदात को अंजाम देने के बाद वह भागा नही। सूचना पर जब पुलिस पहुंची तो विक्रम घर में ही था और पुलिस ने उसे घर से ही गिरफ्तार किया। पत्नी मर चुकी है और कत्ल के आरोप में पति जेल जा चुका है। अब घर में 3 साल का बेटा अकेला रह गया है। बताया जा रहा है कि बच्चे को उसके रिश्तेदार अपने साथ ले गए हैं।

खुद को बचाने की बहुत कोशिश की थी शशि ने
कत्ल से पहले शशि और विक्रम के बीच बहुत कहासुनी हुई थी। बातों में विवाद ज्यादा बढ़ गया और विक्रम गुस्से से आग बबूला हो गया। गुस्से में लाल विक्रम रसोईघर से सब्जी काटने वाला चाकू उठा लाया और उस पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। चाकू के कई वार लगने के बाद भी शशि ने खुद को बचाने की बहुत कोशिश की। लहूलुहान शशि भागी और घर के नीचे खेत में जा गिरी, जहां उसकी मौत हो गई।

कातिल ने पेट और पीठ पर घोंपे चाकू
विक्रम ने शशि के शरीर पर 5 से 6 वार किए। शशि आंगन से नीचे खेत में गिर गई और उसने वही दम तोड़ दिया। विक्रम ने पत्नी शशि के पेट और पीठ चाकू से हमले किए। मृतका के पिता की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। घटना स्थल पर एसडीएम मय फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

5 साल ही टिका 7 जन्मों का बंधन
बताया जाता है कि विक्रम और शशि की शादी करीब 5 साल पहले हुई थी। वर्ष 2016 में दोनों 7 जन्मों के बंधन में बंधे और शादी के 2 साल बाद उन्हें बेटा हुआ। घर की माली हालत ठीक करने के लिए विक्रम ने विदेश में नौकरी की। घर में शशि अकेली थी और यही शक की वजह बना। इसी शक ने 7 जन्मों के बंधन को 5 साल नही टिकने दिया।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here