– पति के जिगरी दोस्त से कराया कत्ल, पति के पैसों से दी सुपारी

जबलपुर, डीडीसी। जबलपुर में एक दिल दहला देने वाला हत्याकांड (Murder) हुआ। यहां पति की बेवफाई से तंग पत्नी (wife) ने उसका सिर धड़ से अलग करवा दिया। पत्नी ने हत्या के लिए पति के ही पैसे और दोस्त का इस्तेमाल किया। हत्या की सुपारी दोस्त को देकर पति को मौत की नींद सुलवा दिया।

12 जनवरी के है मामला
पनागर के मछला गांव में कल 12 जनवरी को खेत में एक शख्स की सिर कटी लाश मिली थी। दूसरे खेत में उसका सिर पड़ा था। इस जघन्य हत्याकांड से सनसनी फैल गयी थी। लोगों ने मृतक की शिनाख्त गांव के नरेश मिश्रा के रूप में की थी पुलिस ने आज इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया।

कत्ल के बाद खुद ही लिखाया मुकदमा
मृतक नरेश मिश्रा 10 जनवरी की रात से गायब था। उसकी पत्नी उषा ने 11 जनवरी को थाने पहुंचकर पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थीम पुलिस जांच कर ही रही थी कि 12 जनवरी को दो अलग-अलग खेतों में नरेश का सिर और धड़ मिला। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और हत्या की जांच शुरू की.

गांव के अखिलेश ने उगला कत्ल का राज
पड़ताल के दौरान गांव वालों ने पुलिस को बताया कि नरेश शाम करीब 8 बजे घर से निकला था और आखिरी बार गांव के ही अखिलेश विश्वकर्मा नाम के युवक के साथ घूमता दिखा था। इस सूचना पर पुलिस ने जब अखिलेश को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो सारी बात उगल दी। उसने बताया कि नरेश की हत्या उसी ने की है।

हत्यारे की भाभी से की थी बलात्कार की कोशिश
अखिलेश ने हत्या की जो वजह बताई उसे सुनकर पुलिस अधिकारी भी दंग रह गए अखिलेश और नरेश अच्छे दोस्त थे। दोनों अक्सर साथ शराब पीते थे। 2019 में नरेश ने अखिलेश की भाभी के साथ दुष्कर्म की कोशिश की थी। तभी से अखिलेश उससे रंजिश रखने लगा था। अखिलेश का कहना है नरेश मिश्रा के किसी और महिला से भी अवैध संबंध थे। इसकी जानकारी उसकी पत्नी को भी थी। इसी बात पर दोनों में अक्सर विवाद होता रहता था.

पत्नी ने दिया पति का सिर काटने के लिए फरसा
नरेश ने कुछ समय पहले अपनी आधा एकड़ जमीन बेचकर एक बोलेरो गाड़ी खरीदी थी, जिसे वह खुद किराए पर चलाता था। बाकी पैसे उसने घर पर ही रखे थे। करीब 10 दिन पहले नरेश की पत्नी उषा ने अपने साथ हो रही ज्यादती के संबंध में अखिलेश को बताया और नरेश की हत्या करने के लिए कहा। बदले में उसने 2 लाख रुपये देने का लालच दिया। पैसे के लालच और बदले की भावना से ग्रस्त अखिलेश ने उषा का प्रस्ताव मान लिया। अखिलेश तैयार हो गया तो उषा ने ही नरेश की हत्या के लिए उसे एक फरसा भी दिया।

सिर धड़ से अलग किया और घर चला गया
तय साजिश के मुताबिक 10 जनवरी की शाम अखिलेश ने नरेश को फोन किया और गांव के बाहर खेत में शराब पीने के लिए बुलाया। दोनों ने साथ में बैठकर शराब पी। नरेश को अखिलेश ने ज्यादा शराब पिला दी, जिससे वह नशे में चूर होकर बेसुध हो गया। इसके बाद अखिलेश ने खेत में ही फरसा निकाला और 4-5 वार कर नरेश की गर्दन उसके धड़ से अलग कर दी। कुछ देर बाद अखिलेश ने उसका सिर उठाकर एक खेत में और धड़ दूसरी जगह फेंक दिया और घर चला गया।

कत्ल की साजिश और फिर दुखी होने का नाटक
नरेश की हत्या के बाद उषा ने थाने जाकर उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवायी। लाश मिलने पर अखिलेश और उषा दोनों दुखी होने का नाटक करते रहे। पुलिस ने जब पूछताछ की तो सारी कहानी सामने आ गई। पुलिस ने नरेश की हत्या करने वाले अखिलेश और सुपारी देने वाली उसकी पत्नी उषा मिश्रा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here