छत्तीसगढ़, डीडीसी। छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमयी पिछले कई दिनों से सुर्खियों में हैं। मीडिया और सोशल मीडिया पर उनके बयान को पुरषों का समर्थन मिल रहा है तो महिला होकर भी किरणमयी को महिलाओं की उपेक्षा भी झेलनी पड़ रही है। बावजूद इसके वो अपने बयान पर अडिग हैं।
किरणमयी नायक इन दिनों छत्तीसगढ़ में राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हैं। दरअसल, बिलासपुर में किरणमयी नायक की एक प्रेस कांफ्रेंस थी। इस प्रेस कांफ्रेंस में उनसे महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे मामलों पर सवालात किए गए। जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि लड़कियों को प्यार करने से पहले सोचना चाहिए। उन्होंने कहा, अधिकांश मामलों में लड़कियां अपनी सहमति से संबंध बनाती हैं। इतना ही नही लड़के के बारे में सब पता होने के बावजूद वो बगैर शादी (लिव-इन) उनके साथ रहने को राजी भी हो जाती हैं। उसके बाद फिर मुकदमा लिखाती हैं कि उनके साथ रेप हो गया। इस बयान के ठीक बाद उन्होंने लड़कियों से अनुरोध भी किया और कहा कि किसी से रिश्ते बनाने से पहले ये जरूर देख लें कि ऐसे रिश्तों का क्या अंजाम हो सकता है। हालांकि उन्होंने यह भी कहने से भी गुरेज नही किया कि ऐसे संबंध हमेशा बुरा अंजाम साथ लेकर आते है।

भाजपा बोली, माफी मांगनी होगी
किरणमयी के इस बयान के बाद भूचाल आना तय था और हुआ भी ऐसा ही। राजनीति गलियारे में रख धड़ा किरणमयी के खिलाफ खड़ा हो गया। विपक्षी दल भाजपा ने जहां महिला आयोग की अध्यक्ष को अपना बयान वापस लेने और माफ़ी मांगने के लिये कहा है। वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल किरणमयी का बचाव करते नजर आए। उन्होंने कहा कि महिला आयोग की किसी बात पर मैं टिप्पणी नहीं करुंगा। किरणमयी एक संवैधानिक पद पर है और उन्होंने यदि कुछ कहा है तो अपने अनुभव और आंकड़ों के आधार पर कहा होगा। इसके इतर भाजपा नेता और महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पांडेय का कहना है कि किरणमयी नायक का बयान महिला विरोधी है।

देह संबंधी कानूनों की जानकर हैं किरणमयी
महिला आयोग की अध्यक्ष रहने से पहले किरणमयी एक पेशेवर वकील हैं और रायपुर शहर की महापौर रह चुकीं हैं। वकालत से जुड़ी रहीं किरणमयी नायक ने 12 साल पहले देह संबंधी क़ानूनों का आलोचनात्मक अध्ययन विषय में पीएचडी की है। किरणमयी नायक कहती हैं कि जिस दिन मैंने यह बयान दिया, उसी दिन एक पुलिस कांस्टेबल के ख़िलाफ़ शिकायत आई। शिकायतकर्ता महिला को पता था कि जिस पुलिस वाले के साथ वह रहती है, वह पहले से ही विवाहित और तीन बच्चों का पिता है। महिला चाहती थी कि वह पत्नी से तलाक़ लेकर उसके साथ विवाह कर ले। किरणमयी का दावा है कि पिछले कुछ दिनों में उनके पास ऐसे करीब दो दर्जन मामले आ चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here