इस मामले में जापान भी करता है अपना दावा

बिलासपुर, डीडीसी। दुनिया की सबसे उम्रदराज महिला जापान (Jaan) में नही बल्कि भारत (India) के हिमाचल प्रदेश (Himachal pradesh) में रहती है। इनकी उम्र का इनके शरीर पर कोई असर नही और ये सारे काम आज भी खुद ही करती हैं। इनकी उम्र सुनेंगे तो आप भी हैरत में पड़ जाएंगे। इनकी उम्र एक सदी गुजार चुकी है और अब ये 130 साल की हो चुकी हैं। आइए जानते हैं विश्व की सबसे उम्रदराज महिला के बारे में, उनके जीवन और रहन-सहन के बारे में।

आधार कार्ड से हुआ उम्र का खुलासा
हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में बिलासपुर (Bilaspur) के पपलाह में रहने वाली दुनिया की सबसे उम्रदराज महिला (oldest woman) का नाम है मंशा देवी। मंशा देवी की उम्र 130 साल है और उनकी उम्र का खुलासा आधार कार्ड (Aadhar Card) के जरिये हुआ। मंशा देवी के आधार कार्ड पर उनकी जन्म तिथि का वर्ष 1890 दर्ज है।

रूस में 122, जापान में 118 और भारत में 130 साल
दुनिया की सबसे उम्रदराज महिला रूस की जीन केलिमेंट हैं। जीन की जब मौत हुई तो वह 122 साल की थी। बताया जाता है कि जीन की मौत वर्ष 1997 में हुई थी। मौजूदा समय में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में जापान की केन तनाका (118) का नाम सबसे बुजुर्ग जीवित महिला के रूप में दर्ज है। डीसी बिलासपुर का कहना है कि जांच में अगर मंशा देवी की उम्र सही पाई जाती है तो वह वर्ल्ड रिकॉर्ड का दावा कर सकते हैं।

जब खुद पहुंची वोट डालने तो खुला मामला
21 जनवरी को जब मंशा देवी बिलासपुर के घुमारवीं के पपलाह गांव में पंचायत चुनाव के दौरान वोट डालने पहुंचीं तो आधार कार्ड से इस बात का पता चला कि उनकी उम्र 130 साल है। मंशा देवी (Mansha Devi) की उम्र जानकर हर कोई हैरान रह गया। हालांकि अभी तक लोगों को यह पता नही था कि मंशा देवी विश्व की सबसे उम्रदराज महिला हैं।

हकीकत जानने के लिए जारी हुआ आदेश
डीसी बिलासपुर रोहित जम्वाल ने इस बात की पुष्टि की, लेकिन हकीकत को और करीब से जानने के लिए उन्होंने एसडीएम घुमारवीं को आदेश जारी किया गया है। डीसी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि महिला की उम्र से जुड़े तथ्यों की जांच करवाई जाएगी। परिवार में कोई ज्यादा पढ़ा-लिखा नहीं है और इसी के चलते उम्र को लेकर किसी ने कोई जिक्र नहीं किया और न प्रशासन की नजर पड़ी।

साबित हुआ तो गिनीज बुक में दर्ज होंगी मंशा देवी
मंशा देवी के छह बच्चे हुए, इनमें से दो की मौत हो चुकी है। महिला के बडे़ बेटे की मौत 81 साल की उम्र में साल 2004 में हुई थी। वहीं बेटे से ढाई साल बड़ी एक बेटी थी, उनकी भी मौत हो चुकी है। इस मामले में प्रशासन और भी जानकारी जुटा रहा है। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है किअगर जिले में ऐसी उम्रदराज महिला हैं तो वह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में इसका दावा करेंगे।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here