रात ससुराल के बाहर कातिलों ने ठोकी थी दमाद के सीने में गोली 

हल्द्वानी, डीडीसी। चांदमारी बीती रात एक दमाद के उसी के सुसराल के बाहर गोली मार दी गई। महज दो फिट की गली में गोली चली, एक मरा लेकिन किसी को कानों कान खरब नहीं। जाहिर हैं ये तगड़ी साजिश है, और इस साजिश में ससुराली फंसते नजर आ रहे है। मृतक की बहन ने तहरीर दी और भाई के ससुराली सास, ससुर, दो सालियां और पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है। हालांकि पुलिस बीती रात से ही पांचों संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। घटना बीती शाम करीब साढ़े सात बजे की है। चांदमारी का अमित कुमार पुत्र मंगल कुमार सलड़ी स्थित अपने होटल से लौट रहा था। बाइक सवार अमित अभी सुसराल के बाहर पहुंचा था तभी उसे गोली मार दी गई। गोली सीने में लगी और अमित ने बहीं दम तोड़ दिया। लाश जिसने देखी वह मोहल्ले का एक युवक था। इसी ने खबर चंद कदम दूर अमित के घर पहुंचाई। कत्ल की खबर उड़ी तो मौके पर तमाशबीन जमा हो गए। इसके बाद पुलिस और फिर मौके की नजाकत को देखते हुए एसएसपी [भी पहुंच गए। चूंकि अमित के परिवार और ससुरालियों के बीच लंबे समय से कानूनी जंग चल रही, ऐसे में इल्जाम ससुरालियों के सिर ही आना था। इल्जाम लगा और पुलिस ने शाम ही पत्नी निकिता और ससुर दिनेश कुमार हिरासत में ले लिया। अगली सुबह होते ही मृतक की बहन शालिनी पुलिस के पास तहरीर लेकर पहुंच गई। उसने अमित की पत्नी निकिता, सास मीना देवी, ससुर दिनेश सालियां अंकिता, कविता पर कत्ल की साजिश का आरोप लगाया तहरीर के मुताबिक पुलिस ने इन पांचों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पैदल आया था गोली मारने वाला
इस दावें में बहुत दम है, और वजह एक संकरी गली है। जहां कत्ल हुआ वह गली महज दो फिट चौड़ी है। इस रास्ते से एक बार बमुश्किल केवल एक बाइक गुजर सकती है। जब दो बाइको का आमना सामना होता है तो एक बाइक को चौड़ी जगह देखकर रूकना पड़ता है। केवल बाइक नहीं ऐसा पैदल चलने वालों को भी करना पड़ा है। इससे अंदाजा लगाना साफ है कि हत्यारे पैदल ही थे। हो यह भी सकता है कि हत्या गली में रहने वाले किसी ने की हो।

कैमरे खंगाले में जुटी पुलिस
आरोपी तो हिरासत में है लेकिन पुलिस अभी तक किसी मुकम्मल अंजाम तक नहीं पहुंची है। पुलिस सीसीटीवी खंगाले में जुटी है। हो सकता है कि कातिल का चैहरा फुटेज में दिख जाए हालांकि ऐसी संभावना कम है। वजह ये कि जिस तंग गली में घटना हुई है वहां और उसके आस-पास सीसीटीवी लगे होने की संभावना कम है।

पत्नी के दोस्तों पर भी पुलिस की नजर
पूरे मामले में सबसे संदिग्ध भूमिका मृतक अमित की पत्नी निकिता की ही मानी जा रही है। पुलिस ने रात निकिता को हिरासत में लेने के साथ ही उसका मोबाइल भी कब्जे में ले लिया था मोबाइल से निकिता के करीबी दोस्तों का पता लगाया जा रहा है साथ ही यह भी देखाजा रहा कि निकिता ने किस नंबर पर, किस से और कितनी देर बात की। जो नंबर संदिग्ध है उसके बारे में निकिता से सवाल किए जा रहे है । कुछ यहीं तरीका पुलिस अन्य आरोपियों के साथ भी आजमा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here